Shree Krishna Janmashtami 2018

श्री कृष्ण जन्माष्टमी

भारत , उत्सव और त्योहारो की भूमि है। यहाँ सब भारतीय पुरुष-महिला बूढ़े-बच्चे लड़के-लड़किया सब त्योहारो को बड़े धूम धाम से मानते है । इन उत्सवों को प्राचीन काल से मनाया जाता है । सब त्योवहारो के पीछे कुचना कुछ सच्ची घटनाये-कहानी जरूर है जिसे लोग याद करते है इसलिए कहा जाता है की भारत एक कहानियोका देश है और उस कहानी के पीछे का त्योहार खुशी और उत्शाह से मनाये है.  Sri Krishna Janmashtami 2018

जैसा कि आप जानते है कि रक्षाबंधन के बाद जन्माष्टमी का त्योहार आता है उसे कृष्ण जयंती और कृष्णाष्टमी के नाम से भी जाना जाता है और मुम्बई और पुणे में दही हांडी के नाम से भी जाना जाता है ।

happy janmashtmi 2018

जन्मास्टमी क्यों मनाई जाता है? (why do we celebrate janmashtami in hindi)(janmashtami facts)

  • आप सब जानते होंगे कि जन्मास्टमी को मनाया जाता है पर जन्मास्टमी क्यों मनाई जाता है? वो तो शायद सब लोग जानते ही होंगे पर जन्मास्टमी पर फिर से एक बार ताजा करले की भगवान श्री कृष्णा देवकी और वासुदेव के आठवें पुत्र थे । मथुरा नगरी का राजा कंस था और कंस देवकी का भाई था और भगवान कृष्ण के मामा थे। 
  • राजा कंस बहुत अत्याचारी था । उसका अत्याचार दिन प्रति दिन बढ़ते ही जा रहा था । एक समय आकाश वाणी हुई कि उसकी बहन देवकी का आठवा पुत्र राजा कंस का अंत करेगा । राजा कंस ने ये बात सुनकर उसकी बहन देवकी और उसके पति वासुदेव को उसकी काल कोठरी में बंध कर दिया । कंस ने देवकी के 7 बच्चो को मार डाला था , जब माता देवकी ने उसका आठवा पुत्र कृष्णा को जन्म दिया तब भगवान विष्णु ने वासुदेव को आदेश दिया कि वो भगवान श्री कृष्ण को गोकुल में माता यशोदा और नंद बाबा के पास सुरक्षित पहोचा दे । तब श्रावण मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी की मध्यरात्रि का समय था जब भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था तबसे जन्मास्टमी का त्योहार मनाया जाता है।
  • कृष्ण को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है. गोकुल में माता यशोदा और नंद बाबा की देख रेख में कृष्णा बड़े हुवे और जब भगवान श्री कृष्ण की उम्र युद्ध करने योग्य हो गई तब उन्होंने उनके अहंकारी मामा कंस का वध किया और उसके अत्याचार से गांव वालो को बचाया था
  • जन्माष्टमी ,कृष्ण के जन्म का जश्न मनाने का त्योहार है। 

 

जन्मास्टमी के दिन क्या-क्या किया जाता है ?

  • जन्मास्टमी के दिन कृष्ण के भजन कीर्तन करते है , उपवास करते है, ढेर सारी प्राथना करते है और कृष्णा भकति में लीन रहते है । इस दिन छोटे बच्चे को कान्हा जैसे कपड़े पहनाकर तयार किया जाता है और एक हाथ में बंसी भी दी जाती है । भगवान कृष्ण का जन्म मध्यरात्रि में हुवा था इसलिए हर साल जन्मास्टमी के दिन रात्री के 12 बजे कृष्ण के जन्म का उतसव मनाते है.
  • जन्मास्टमी के दिन लोगो कृष्ण की मूर्ति लाते है उसकी पूजा करके आपने घरके मंदिर में स्थान देते है उसके लिए जुला लाते है. और उस जुले को सजाकर उसमे भगवान कृष्ण को बिठाने के लिए तयार किया जाता है , बाद में ठीक 12 बजे कृष्णा का जन्म करते है. और कृष्णा को नहलाते है और भगवान कृष्णा की मूर्ति को जुल्हे में बैठाते है और उसे जुलाया जाता है । जुले में बैठने के बाद भगवान कृष्णा को प्रसाद चढ़ाते है और लोगो मे बाटते है और इसके बाद अपना उपवास खोलते है। भगवान कृष्णा के लिए प्यार के भक्कति गीत गाते है।
  • गुजरात मे जन्मास्टमी के नाम से जाना जाता है,मुम्बई और पुणे में जन्मास्टमी को दही हांडी dahi handi 2018 के नाम से जाना जाता है वैसे ही गोकुल में गोकुलाष्टमी के नाम से जाना जाता है। सभी राज्यो में अलग अलग तरीके से जन्मास्टमी को मनाया जाता है.
  • जन्मास्टमी के दिन मंदिरो को भी सजाया जाता है और टीवी पर भी श्री कृष्णा जन्म का प्रोग्राम लाइव दिखाया जाता है बड़े शहेर, बड़ी कॉलेज स्कूल,में जन्मास्टमी का प्रोग्राम होता।
  • बहोत से शहरों में दही हांडी मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन होता है । दही हांडी में सभी जगह के बाल गोविंद भाग लेते है और एक के ऊपर एक चढ़के दही से भरी एक मटकी फोड़ते है जो उची इमारत से जुड़ी हुई होती है । बाल गोविंद की अलग अलग टीम होती है और जो टीम दही हांडी को तोड़ने में सफल होती है वोही टीम प्रतियोगिता में जीती हुई मानी जाती है और उस टीम को इनाम दिया जाता है । अलग अलग जगहै पे अलग अलग प्रतियोगिता होती है और सभी अलग अलग टीम उसमे भाग लेती है ।

 

सभी जन्मास्टमी को खुशी खुसी मैनेज है और आनंद लेते है । और धूम धाम से ये त्योहार मानते है । उम्मीद करते के आपकी भी इस साल 2018 की जन्माष्ठमी खुशल मंगल हो । आपको और आपके परिवार को हैप्पी जन्माष्ठमी । जन्माष्ठमी की ढेर सारी बढ़िया । अगर आप भी janmashtami wishes, janmashtami photos, janmashtami quotes, janmashtami gif, janmashtami shayari, janmashtami 2018 images  के साथ दुसरो शुभकामनाए देना चाहते हो तो हमारी निचे दिए गई पोस्ट को देखे:

If You like this website, please share to help it grow, Thank You 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *