साउथ अफ्रीका का बहुत ही खतरनाक आइलैंड (Migingo Island)-जहां होता है हर बुरा काम

साउथ अफ्रीका का बहुत ही खतरनाक आइलैंड-मिगिनगो आइलैंड  (Migingo Island)

जब भी हम किसी आइलैंड के बारे में सोचते तो सोच कर ही हमे उसकी खूबसूरती ही याद आती है लेकिन दुनिया में अच्छाई है, तो बुराई भी है। लोग चैन और सुकून की तलाश में कहां-कहां नहीं भटकते। छुट्टियां मनाने ऐसे सुदूर इलाकों में पहुंच जाते हैं, जहां दूर-दूर तक कोई नहीं होता।साउथ अफ्रीका का बहुत ही खतरनाक आइलैंड (Migingo Island)

Migingo Island

मिगिनगो आइलैंड (Migingo Island)की कुछ अनोखी बाते

आज एक ऐसे द्वीप के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप भी सोच में पड़ जायेंगे. दक्षिण अफ्रीका के समुद्री तट से कुछ मील की दूरी पर विक्टोरिया तलाब के बीच ऐसा ही एक छोटा सा टापू है। बेहद छोटा। यह आइलैंड हरियाली के लिए नहीं बल्कि अपने जुर्म के लिए जाना जाता है. आधा एकड़ जमीन वाले इस आइलैंड पर मछुआरा समुदाय के लोग बसते हैं, लेकिन इन दिनों यह आइलैंड अपनी करतूतों के कारण पूरी दुनिया में बदनाम हो गया है। आइये आपको बता देते है अनोखे आइलैंड के बारे में. दरअसल, युगांडा और केन्या की सीमा पर साउथ अफ्रीका की विक्टोरिया झील के पास बसा पथरीला ‘मिगिनगो द्वीप’ बहुत खास है. इसकी कहानी भी बहुत ही खास है

कोन रहता है मिगिनगो आइलैंड(Migingo Island) पर ?

युगांडा और केन्या की सीमा पर बने इस मिगिनगो आइलैंड में गिने चुने पेड़-पौधे हैं। टीन से बनी झोपड़ियों में मछुआरों की फैमिली रहती है। इस आइलैंड पर लोगों का ध्यान तब गया, जब बीते दिनों यहां अचानक से बाहरी दुनिया की आवाजाही बढ़ गई। चर्चा शुरू हुई और जब पता लगाया तब जो भेद खुला वह चौंकाने वाला था।

Migingo Island
रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस छोटे से आइलैंड पर कई वेश्यालय चल रहे हैं। जी हां, बाहर से टीन की झोपड़ियों से ढके होने के कारण बाकी दुनिया को अंदर का कोई हाल नजर नहीं आता। लेकिन अंदर यहां कई होटल, ब्यूटी और मसाल पार्लर चल रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि इसे दुनिया का सबसे छोटा भीड़भाड़ वाला आइलैंड बताया जा रहा है।

Migingo Island

मिगिनगो आइलैंड केवल 2,000 स्क्वेयर मीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। जबकि यहां 500 से ज्यादा लोग रह रहे हैं। इस टापू पर गोरखधंधे की लिस्ट सिर्फ वेश्यालय और मसाज पार्लर तक सिमित नहीं है, बल्कि यहां शराबखाने भी बने हुए हैं। कुल मिलाकर अय्याशी का सारा साधन यहां मौजूद है। कुछ रिपोर्ट्स में तो यहां सस्ते ड्रग्स के इस्तेमाल की भी बात की जा रही है।

Migingo Island

बताया जाता है कि 1991 में सबसे पहले डलमास टेम्बो और जॉर्ज कीबेबे नाम के दो मछुआरे यहां आए थे। तब यह छोटा सा आइलैंड जंगली घास (गांजा) और सांपों से पटा पड़ा था। साल 2004 में युगांडा के जोसेफ यहां पहुंचे तो उन्हें एक वीरान घर मिला। धीरे-धीरे केन्या, युगांडा और तंजानिया के दूसरे मछुआरे भी यहां आने लगे और बसने लगे।

Migingo Island

इस आइलैंड पर लोगों के बसने का मुख्य कारण मछलियों का व्यापार था। साथ ही यह कि इन्हें यहां रहने और व्यापार के लिए कोई टैक्स भी नहीं देना था। हालांकि, केन्या और युगांडा जैसे अफ्रीकी देश अब इस आइलैंड पर अपना हक जमाने के लिए आपस में भिड़ गए हैं। बीते साल सितंबर में केन्या पुलिस के कुछ अधिकारियों ने यहां पहुंचकर केन्या का झंडा फहराया था, जिसके बाद विवाद बढ़ गया था।

Migingo Island On World Map

अगर आपको कुछ नया जानने को मिला है तो इसे आपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले 🙏धन्यवाद🙏

Also Read:

👉EaseUS Data Recovery Wizard v11.9 Full version

👉Mobile Se Paise Kaise kamaye in hindi jankari

👉WhatsApp में अपने Stickers कैसे ऐड करे? How To Use Personal stickers for WhatsApp?

If You like this website, please share to help it grow, Thank You 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *